-->

मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना_चिरंजीवी योजना के लाभ 2023_Sarkari Yojana

मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना

स्वास्थ्य का समर्पण! राजस्थान सरकार ने महात्मा गांधी की इच्छा को पूरा करने के लिए 2021-22 के बजट में 'यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज' की घोषणा की है। 1 मई 2021 से मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत होगी, जिससे सभी नागरिकों को उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा सेवाएं मिलेंगी। यह योजना बड़े खर्चों से मुक्ति दिलाकर उन्हें गंभीर बीमारियों के ईलाज में सहायता करेगी। 


राजस्थान सरकार ने निःशुल्क दवा और जांच योजनाओं का सफल संचालन किया है और अब 'यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज' के साथ स्वास्थ्य सेवाओं को और बढ़ावा देने का कदम बढ़ाया है। यह योजना निजी अस्पतालों में भी नागरिकों को गुणवत्तापूर्ण निःशुल्क चिकित्सा सेवाएं प्रदान करेगी और परिवार द्वारा बनाए गए खर्चों को कम करेगी। चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के साथ, सभी को स्वस्थ और खुशहाल जीवन का अधिकार होगा।

योजना का उद्देश्य :

  • पात्र परिवारों के स्वास्थ्य व्यय को कम करना, ताकि कोई भी व्यक्ति अपने आपको उच्च चिकित्सा खर्चों से मुक्त पाए।
  • राजकीय अस्पतालों के साथ-साथ, निजी चिकित्सालयों के माध्यम से पात्र परिवारों को गुणवत्तापूर्ण और विशेषज्ञ चिकित्सा सेवाएं प्रदान करना।
  • राज्य के पात्र परिवारों को योजना के पैकेज से संबंधित बीमारियों के लिए निःशुल्क इलाज सुनिश्चित करना।
  • एक नई और उपयोगकर्ता-मित्र दृष्टिकोण के साथ, यह योजना स्वास्थ्य सेवाओं को पहुंचाने में मदद करने का उद्देश्य रखती है।

मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना_चिरंजीवी योजना के लाभ 2023_Sarkari Yojana


 योजना का विवरण :

1. प्रारंभ और लाभार्थी: 

योजना ने 30 जनवरी 2021 से आयुष्मान भारत-महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा का क्षेत्र बढ़ाया और 1 मई 2021 से मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत की है।

2. लाभार्थी परिवार: 

योजना में पंजीकृत राज्य के निशुल्क श्रेणी के परिवार, सामाजिक आर्थिक जनगणना, सरकारी कर्मचारी, लघु एवं सीमांत कृषक, गत वर्ष कोविड-19 अनुग्रह राशि प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवार शामिल हैं। निर्धारित प्रीमियम का भुगतान करने वाले भी योजना में सम्मिलित हो सकते हैं।

3. पैकेज: 

योजना में आईपीडी प्रोसीजर्स और चिन्हित प्रोसीजर्स के लिए 1798 प्रकार के पैकेज उपलब्ध हैं। पैकेजेस को सोफ़्टवेयर में 3219 पैकेजेस में विभाजित किया गया है, जो उपयोगकर्ताओं को सुगम और समझने में सहायक बनाता है। योजना अन्तर्गत लाभार्थी को बीमारियों के लिए विभिन्न चिकित्सा सुविधाएं मिलेंगी।

4. अन्य प्रावधान: 

योजना में परिवार के आकार और आयु की कोई सीमा नहीं है। एक वर्ष तक के शिशु भी योजना में लाभ उठा सकते हैं।

पॉलिसी वर्ष:

  • योजना के पूर्व लाभान्वित श्रेणी, जैसे खाद्य सुरक्षा अधिनियम एवं सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के अंतर्गत पात्र परिवार, पॉलिसी वर्ष 30.01.2021 से 29.01.2022 के बीच स्वास्थ्य बीमा का लाभ प्राप्त करेंगे। उन्हें निर्धारित वॉलेट राशि मिलेगी और इसे नए पॉलिसी वर्ष में भरा जा सकता है।

नए जुड़ने वाले, जो योजनार्न्तगत पंजीकरण करवाएंगे, उन्हें निम्न तालिका के अनुसार पंजीकरण अवधि के बाद से एक पॉलिसी वर्ष के लिए निःशुल्क उपचार का लाभ होगा:

  • 1 अप्रैल से 30 अप्रैल 2021: 1 मई 2021 से
  • 1 मई से 31 मई 2021: पंजीकरण दिनांक से
यह पॉलिसी वर्ष योजना के अनुसार नए और पूर्व लाभान्वित सभी श्रेणियों को समर्थनपूर्ण बनाए रखने का उदाहरण है।
Must Read This Also

आवश्यक दस्तावेज:

1 जनआधार कार्ड/जनआधार कार्ड नम्बर/जनआधार कार्ड पंजीयन रसीद:

योजना में लाभ प्राप्त करने के लिए आवश्यक है कि आपके पास जनआधार कार्ड हो या जनआधार कार्ड नंबर हो।जनआधार कार्ड पंजीयन रसीद का नंबर भी आवश्यक है।

2. आधार कार्ड नम्बर:

योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए आपके पास आधार कार्ड नम्बर होना आवश्यक है।
आधार कार्ड नम्बर के बिना योजना में पंजीकरण नहीं किया जा सकता।

योजनान्तर्गत पात्रता:

योजना के तहत पात्र परिवारों को दो विभिन्न श्रेणियों में बांटा गया है -

1. निःशुल्क लाभ प्राप्त करने वाली श्रेणी:

राज्य सरकार द्वारा निर्धारित इस श्रेणी के पात्र परिवारों के प्रीमियम का 100% भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है।वर्तमान में, खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत पात्र परिवार, सामाजिक आर्थिक जनगणना (एसईसीसी) 2011 के पात्र परिवार, सरकारी विभागों/बोर्ड/निगम/सरकारी कम्पनी में कार्यरत संविदा कर्मिक, लघु सीमांत कृषक एवं गत वर्ष कोविड-19 अनुग्रह राशि प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवार निःशुल्क श्रेणी में सम्मिलित हैं।

2.रू 850/- प्रति परिवार प्रति वर्ष का भुगतान कर लाभ प्राप्त करने वाली श्रेणी:

राज्य के वे परिवार जो निःशुल्क पात्र परिवारों की श्रेणी में नहीं आते, सरकारी कर्मचारी/पेंशनर नहीं हैं और मेडिकल अटेंडेंस रूल्स के तहत लाभ नहीं ले रहे हैं, वे निर्धारित प्रीमियम का 50% यानी रू 850 प्रति परिवार प्रति वर्ष का भुगतान कर योजना का लाभ उठा सकते हैं।
प्रीमियम का बचा 50% हिस्सा सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

यह विभाजन योजना को सुचारू और उपयोगकर्ता-मित्र बनाए रखने के लिए एक अनूठा पहलु है।

योजना के लाभार्थी :

मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना_Sarkari Yojana


योजनार्थगत पंजीकरण प्रक्रिया:

1. निःशुल्क लाभ प्राप्त करने वाली श्रेणी हेतु पंजीकरण प्रक्रिया:

1.1 योजना के अंतर्गत पहले से ही लाभान्वित श्रेणीयों, जैसे खाद्य सुरक्षा अधिनियम एवं सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के पात्र परिवारों को पंजीकृत करने की आवश्यकता नहीं है।

1.2 लाभार्थी को योजना के रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर जाकर पंजीकरण करवाना होगा, जिसका लिंक https://chiranjeevi.rajasthan.gov.in पर उपलब्ध है। लाभार्थी ऑनलाइन अपनी एसएसओ आईडी 
(SSO ID ) या ई-मित्र केन्द्र (E-Mitr) पर जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं।

1.3 रजिस्ट्रेशन के लिए लाभार्थी के पास जनआधार कार्ड, जनआधार कार्ड नम्बर, या जनआधार कार्ड की पंजीयन रसीद का नम्बर और आधार कार्ड नम्बर होना आवश्यक है।

1.4 पंजीकरण से पहले, आवेदक का मोबाइल नंबर आधार कार्ड में रजिस्टर होगा, जिसके लिए आवेदक का आधार कार्ड/ आधार कार्ड नम्बर होना आवश्यक है।

1.5 संविदाकार्मिकों का पंजीकरण नोडल अधिकारी द्वारा ऑनलाइन सत्यापित किया जाएगा और नियमित रूप से अपडेट किया जाएगा।

1.6 जो लघु एवं सीमांत किसान  जनआधार से जुड़े नहीं हैं, वे ई-मित्र (E-Mitr) के माध्यम से जनआधार पोर्टल पर Land Holding की सीडींग करवा सकते हैं। इसके बाद परिवार को ऑनलाइन/ई-मित्र के माध्यम से पंजीकरण करवाया जा सकेगा।

1.7 सफल पंजीकरण के बाद, लाभार्थी पॉलिसी डॉक्युमेंट प्रिंट कर सकेंगे।

2. रू 850/- प्रति परिवार प्रति वर्ष का भुगतान कर लाभ प्राप्त करने वाली श्रेणी हेतु:

2.1 लाभार्थी को योजना के रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर ऑनलाइन या ई-मित्र के माध्यम से पंजीकरण करवाना होगा। इन लाभार्थियों द्वारा 850 रूपये प्रति परिवार प्रति वर्ष प्रीमियम राशि के रूप में सम्बंधित ई-मित्र केन्द्र को या डिजिटल पेमेंट मोड से भुगतान करना होगा। सफल पंजीकरण के बाद लाभार्थी पॉलिसी डॉक्युमेंट प्रिंट कर सकेंगे।

2.2 ई-मित्र या स्वयं द्वारा योजना में पंजीकरण की चरणवार विस्तृत प्रक्रिया योजना की वेबसाइट https://chiranjeevi.rajasthan.gov.in/ पर उपलब्ध है।

2.3 पंजीकरण शुल्क: दोनों श्रेणियों के लाभार्थियों को ई-मित्र केन्द्र पर किसी भी प्रकार के शुल्क का भुगतान नहीं करना है। राज्य सरकार द्वारा पंजीकरण, प्रीमियम जमा और पॉलिसी दस्तावेज के प्रिंट का शुल्क वहन किया जाएगा।

योजनार्न्तगत लाभ लेने की प्रक्रिया :

1. पात्र परिवार की पहचान:

पात्र परिवार की पहचान उसके  जन-आधार कार्ड नंबर/जन-आधार ईआईडी/पॉलिसी दस्तावेज/आधार कार्ड के माध्यम से होगी।मरीज को अस्पताल में भर्ती होते समय योजना के काउंटर पर स्वास्थ्य मार्गदर्शक को आवश्यक जानकारी प्रदान करनी चाहिए।

2. लाभार्थी की पहचान:

मरीज की पात्रता की जांच के लिए जन-आधार कार्ड नंबर या पंजीयन नंबर डालने पर परिवार और सदस्यों का विवरण online Records  में प्रदर्शित होगा।
मरीज को चिन्हित करने के लिए बायोमैट्रिक वेरिफिकेशन और वेब कैमरा के सामने लाइव फोटो लिया जाएगा।

3. योजना के पैकेज के अनुसार इलाज प्रारंभ:

मरीज का इलाज योजना के पैकेज के अनुसार शुरू  किया जाएगा।

4. एक वर्ष तक के बच्चे के इलाज:

योजना के अंतर्गत पात्र परिवार के जन-आधार कार्ड में नाम सम्मिलित नहीं होते होते भी उस परिवार के एक वर्ष तक आयु के बच्चे को इलाज करने का प्रावधान है।जिससे छोटे बच्चो का ईलाज आसानी  करवाया जा सकता।

5. 05 वर्ष तक के बच्चे के इलाज:

पाँच वर्ष तक की आयु के बच्चे के ईलाज के लिए बायोमैट्रिक वेरिफिकेशन और फोटो पहचान पत्र की आवश्यकता नहीं है।परिवार पहचान पत्र में जुड़े परिवार के किसी अन्य सदस्य के बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन से बच्चे की टीआईडी जनरेट की जा सकती है।इसके बाद निःशुल्क इलाज प्रदान किया जायेगा। 


चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना क्या है?

राजस्थान सरकार ने महात्मा गांधी की इच्छा को पूरा करने के लिए 2021-22 के बजट में 'यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज' की घोषणा की है। 1 मई 2021 से मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत होगी, जिससे सभी नागरिकों को उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा सेवाएं मिलेंगी। यह योजना बड़े खर्चों से मुक्ति दिलाकर उन्हें गंभीर बीमारियों के ईलाज में सहायता करेगी।

चिरंजीवी योजना में कितनी बीमारियां शामिल है?

चिरंजीवी योजना में शामिल बीमारियां:

कोविड-19:
योजना के तहत कोविड-19 बीमारियों का उपचार शामिल है, जिससे लाभार्थी इस जानलेवा बीमारी के खिलाफ सुरक्षित रह सकते हैं। ब्लैक फंगस (मुकोरमायकोसिस): चिरंजीवी योजना में मुकोरमायकोसिस, या ब्लैक फंगस के इलाज का भी समर्थन किया जाता है।
हार्ट सर्जरी:
योजना गंभीर हृदय समस्याओं के इलाज को शामिल करती है, जिसमें हार्ट सर्जरी समाहित है।
ऑर्गन ट्रांसप्लांट:
योजना द्वारा ऑर्गन ट्रांसप्लांट की जरूरत होने पर भी इसका इलाज संभाला जाता है।
न्यूरो सर्जरी:
न्यूरोलॉजी और न्यूरोसर्जरी से संबंधित बीमारियों के इलाज को भी योजना में शामिल किया गया है।
पैरालाइसिस:
योजना के अंतर्गत पैरालाइसिस, यानी शरीर के किसी हिस्से की हानि या असमर्थता की स्थिति का इलाज भी किया जा सकता है।
कैंसर:
योजना के तहत कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का भी समर्थन दिया जाता है, ताकि लोग इस जटिल बीमारी से निपट सकें।

चिरंजीवी योजना का स्टेटस कैसे चेक करें?

चिरंजीवी योजना का स्टेटस चेक कैसे करें:

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना पोर्टल पर जाएं।
पेज के नीचे स्क्रॉल करके "रजिस्ट्रेशन की स्थिति खोजें" वाले सेक्शन में पहुँचें।
अपना जन आधार नंबर दर्ज करें और सर्च बटन दबाएं।
चिरंजीवी योजना का स्टेटस आपके सामने प्रदर्शित होगा।