-->

भीलवाड़ा जिला दर्शन_राजस्थान जिला दर्शन_Bhilwara District Gk Mock Test

Question of

"Good Try! You Nailed It!"
You Got out of answers correct!
That's

"लोगों के सवाल ?"
भीलवाड़ा का पुराना नाम क्या है?

भीलवाड़ा का प्राचीन नाम "हरणी" था, जो कि एक घना आरण्य वन क्षेत्र के लिए प्रसिद्ध था। समय के साथ, इस नाम का अपभ्रंश होकर यह नगर "हरणी" से "भीलवाड़ा" में परिणामित हुआ।

राजस्थान सबसे बड़ी तहसील कौन सी है?

राजस्थान में सबसे बड़ी तहसील का नाम 'सम' है, जो जैसलमेर जिले में स्थित है और क्षेत्रफल की दृष्टि से विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

भीलवाड़ा कौन से संभाग में आता है?

भीलवाड़ा जिला पहले अजमेर संभाग में था, लेकिन अब इसे उदयपुर संभाग में शामिल कर दिया गया है। अजमेर संभाग में अब कुल 6 जिले हैं, जिनमें अजमेर, ब्यावर, केकड़ी, टोंक, नागौर, डीडवाना-कुचामन और शाहपुरा शामिल हैं।

भीलवाड़ा को वस्त्र निर्यात का दर्जा कब मिला?

भीलवाड़ा, जिसे 'राजस्थान का मैनचेस्टर', 'वस्त्र नगरी', या 'टेक्सटाइल सिटी' के रूप में पहचाना जाता है, ने अपने वस्त्र उद्योग के क्षेत्र में महत्वपूर्ण पहचान हासिल की है। 26 फरवरी, 2009 को, केंद्र सरकार ने इसे "कपड़ा निर्यातक शहर" का दर्जा प्रदान किया, जो इस नगर को इस क्षेत्र में एक अग्रणी स्थान पर स्थापित करता है।

राजस्थान की पहली सूती वस्त्र मिल कौन सी है?

राजस्थान की पहली सूती वस्त्र मिल, जिसका नाम है "कृष्णा मिल्स, ब्यावर," की स्थापना 1889 में हुई थी। इस संबंध में, इसे राजस्थान का पहला कपड़ा मिल बनाने का गौरव प्राप्त है, जो भारतीय वस्त्र उद्योग में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित हुआ है।

भीलवाड़ा क्यों प्रसिद्ध है?

'कपड़ों और करघों के शहर' के रूप में प्रसिद्ध, भीलवाड़ा गर्व से रामस्नेही संप्रदाय के विश्व प्रसिद्ध रामद्वारा का निवासस्थान है। इस संप्रदाय के संस्थापक, गुरु स्वामी रामचरणजी महाराज ने यहां अपने अनुयायियों को अपने उद्दीपनादायक उपदेशों से समृद्ध किया और बाद में शाहपुरा की ओर अपने कार्य से किया।

भीलवाड़ा जिला दर्शन_राजस्थान जिला दर्शन_Bhilwara District Gk Mock Test