-->

NCERT Geography Class 8 - प्राकृतिक वनस्पति के प्रश्न उत्तर के माध्यम से सीखें

NCERT Geography Class 8 - प्राकृतिक वनस्पति के प्रश्न उत्तर के माध्यम से सीखें

Question of

"Good Try! You Nailed It!"
You Got out of answers correct!
That's

"लोगों के सवाल ?"
भूमध्यसागरीय वनस्पति कौन सी है? भूमध्यसागरीय वनस्पतियों का क्या महत्व है?

भूमध्यसागरीय वनस्पति में वृक्ष होते हैं जो अपनी मोटी छाल और मोम से लिपटे पत्तों की मदद से शुष्क ग्रीष्मकाल के लिए खुद को ढाल लेते हैं। ये वनस्पतियाँ वाष्पोत्सर्जन को कम करने में मदद करती हैं और भूमध्यसागरीय क्षेत्रों को फलों की खेती के लिए महत्वपूर्ण बनाती हैं। इन्हें 'विश्व के बागों' के रूप में जाना जाता है। मध्यसागरीय वनस्पतियों का महत्व इसलिए होता है क्योंकि इन प्रदेशों में ग्रीष्मकालीन मौसम शुष्क होता है, और इन वनस्पतियों की कड़ी पत्तियों और सूखे को सहने की क्षमता होती है। इसके अलावा, इन वनस्पतियों की पत्तियों में नमी को संरक्षित करने की क्षमता भी होती है, जिससे वनस्पतियों की जीवनकला बनी रहती है। इन वनस्पतियों के माध्यम से सूखे के प्रभावों से बचाव किया जा सकता है और कृषि उत्पादन को सुरक्षित रखने में मदद मिलती है।

स्टेपी घास क्या है? स्टेपी में कौन से पौधे हैं?

स्टेपी घास एक प्रकार की घासदार पौधा होता है, जो ध्रुवीय और उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों के बीच पाया जाता है। ये क्षेत्र अर्ध-शुष्क होते हैं और साल में 25-50 सेमी तक वर्षा प्राप्त करते हैं। इस तरह की घास वनस्पतियाँ मुख्य रूप से सूखे और कठिन मौसम के लिए प्रिय होती हैं।स्टेपी में आमतौर पर छोटी घास का प्रभुत्व होता है, जिसकी लम्बाई अधिकतर 20 इंच से कम होती है। स्टेपीज़ में पाए जाने वाले अन्य पौधों में झाड़ियाँ और कांटे भी होते हैं, जिनमें जंगली फूल वाले पौधे शामिल होते हैं।

'सवाना' किसे कहते हैं?

उष्णकटिबंधीय घास के मैदान ध्रुवीय और उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों के बीच, कर्क रेखा और मकर रेखा के बीच में स्थित होते हैं। ये मैदान आमतौर पर महाद्वीपों के अंदरी भागों में पाए जाते हैं और उष्णकटिबंधीय वर्षा वनों और मरुस्थलों के क्षेत्रों के बीच स्थित होते हैं। इन मैदानों को आमतौर पर 'सवाना' भी कहा जाता है।

शीतोष्ण सदाबहार वन कहाँ पाए जाते हैं?

शीतोष्ण सदाबहार वन आमतौर पर मध्य अक्षांश के तटीय प्रदेशों में पाए जाते हैं। इन्हें आमतौर पर महाद्वीपों के पूर्वी तटों पर देखा जा सकता है, जैसे दक्षिण-पूर्व अमेरिका, दक्षिण चीन और दक्षिण-पूर्वी ब्राजील में। इन वनों में बांज, चीड़, और यूकेलिप्टस जैसे पेड़ पाए जाते हैं, जो दृढ़ और मुलायम दोनों प्रकार के होते हैं।

ध्रुवीय क्षेत्र की क्या विशेषता है?

ध्रुवीय क्षेत्रों की विशेषता है कि यहाँ चरम शीत जलवायु पाई जाती है। इन क्षेत्रों में सदैव बर्फ से ढके रहते हैं और यहाँ वर्ष के अधिकांश समय अत्यधिक सर्दी रहती है। ध्रुवों पर छह महीने तक सूर्यास्त नहीं होता और शेष छह महीने में सूर्योदय नहीं होता। इन क्षेत्रों में सर्दियों में तापमान −37∘C तक पहुँच सकता है।

वृहत ज्वार क्या होता है? वृहत ज्वार और लघु ज्वार में क्या अंतर है?

वृहत् ज्वार: पृथ्वी के संदर्भ में सूर्य और चंद्रमा की स्थिति ज्वार की ऊँचाई को परोक्ष रूप से प्रभावित करती है। जब तीनों इन ग्रहों की स्थिति एक ही सीधी रेखा में होती है, तो ज्वारीय उभार अधिकतम होता है। इसे वृहत् ज्वार-भाटा कहा जाता है, और ऐसा महीने में दो बार होता है, पहली बार पूर्णिमा के समय और दूसरी बार अमावस्या के दिन। वृहत ज्वार और लघु ज्वार में अंतर होता है। एक लघु ज्वार मध्यम ज्वार की अवधि को संदर्भित करता है, जब सूर्य और चंद्रमा एक दूसरे के लंबबत होते हैं। लघु ज्वार वृहत ज्वार के 7 दिन बाद आता है। वृहत ज्वार और लघु ज्वार के बीच अनुमानित अंतराल 7 दिन है, जब सूर्य और चंद्रमा के बल एक दूसरे को प्रभावहीन करते हैं।

NCERT Geography Class 8,प्राकृतिक वनस्पति के प्रश्न उत्तर,indian geography mcq,ncert solutions,ncert chapter