-->

" वायु शक्ति 24 अभ्यास : Indian Air Force Exercise - Vayu Shakti 2024 "

 Indian Air Force Exercise - Vayu Shakti 2024

Stay informed about the Indian Air Force Exercise - Vayu Shakti 2024 with our comprehensive coverage. Get insights and updates on Vayu Shakti 24 Abhyas.

🚀 भारतीय वायु सेना का अभ्यास वायु शक्ति-2024, जैसलमेर:

  • अभ्यास वायु शक्ति-2024 भारतीय वायु सेना द्वारा आयोजित एक अभ्यास है, जिसमें विभिन्न वायुसेना विमानों और हथियारों का संयुक्त अभियान संचालित किया जाता है।
  • भारतीय वायु सेना द्वारा 17 फरवरी, 2024 को जैसलमेर के पास पोखरण के एयर टू ग्राउंड रेंज में अभ्यास वायु शक्ति-2024 का आयोजन किया जाएगा। इस अभ्यास में भारतीय सेना के साथ संयुक्त अभियानों का संचालन किया जाएगा। 🛫
  • अभ्यास वायु शक्ति-2024 का मुख्य उद्देश्य भारतीय वायु सेना की क्षमता का प्रदर्शन करके आक्रमण और रक्षा क्षमता को बढ़ाना है।
अभ्यास वायुशक्ति-2024, Daily Current Affairs

🛩️ मुख्य विमान और हथियार:

  • अभ्यास वायु शक्ति-2024 में भारतीय लड़ाकू विमान तेजस, प्रचंड, ध्रुव, राफेल, मिराज-2000, सुखोई-30 एमकेआई, जगुआर, हॉक, सी-130जे, चिनूक, अपाचे, और एमआई-17 शामिल होंगे। 🚁

🎯 आक्रमण और रक्षा क्षमता का प्रदर्शन:

  • अभ्यास वायु शक्ति में भाग लेने वाले विमान और हथियार शत्रु को ट्रैक करने और उसे मार गिराने में अपनी क्षमता का प्रदर्शन करेंगे। इस अभ्यास में भारतीय वायुसेना की लंबी दूरी, सटीक मारक क्षमता के साथ-साथ पारंपरिक हथियारों का सही ढंग से उपयोग करने की क्षमता दिखाई जाएगी। 🎯

🚁 परिवहन विमान और हेलीकॉप्टर बेड:

  • भारतीय वायुसेना के परिवहन विमान और हेलीकॉप्टर बेड द्वारा विशेष अभियान संचालित होगा, जिसमें गरुड़ और अन्य विमान भी शामिल होंगे। 🚁

अभ्यास वायु शक्ति-2024 क्या है?
अभ्यास वायु शक्ति-2024 भारतीय वायु सेना द्वारा आयोजित एक अभ्यास है, जिसमें विभिन्न वायुसेना विमानों और हथियारों का संयुक्त अभियान संचालित किया जाता है।
वायु शक्ति-2024 अभ्यास का मुख्य उद्देश्य क्या है?
अभ्यास वायु शक्ति-2024 का मुख्य उद्देश्य भारतीय वायु सेना की क्षमता का प्रदर्शन करके आक्रमण और रक्षा क्षमता को बढ़ाना है।
अभ्यास वायु शक्ति-2024 में कौन-कौन से विमान और हथियार शामिल हैं?
अभ्यास वायु शक्ति-2024 में भारतीय लड़ाकू विमान तेजस, प्रचंड, ध्रुव, राफेल, मिराज-2000, सुखोई-30 एमकेआई, जगुआर, हॉक, सी-130जे, चिनूक, अपाचे, और एमआई-17 शामिल होंगे।