-->

"विज्ञान में महिलाओं और लड़कियों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस: योगदान और प्रेरणा"

विज्ञान में लड़कियाँ और महिलाएँ का अंतर्राष्ट्रीय दिवस 

विज्ञान में लड़कियाँ और महिलाएँ का अंतर्राष्ट्रीय दिवस हर वर्ष 11 फरवरी को मनाया जाता है। 22 दिसंबर 2015 को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा अधिनियम A/RES/70/212 के तहत विज्ञान में महिलाओं और लड़कियों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस की स्थापना हुई। 11 फरवरी को विज्ञान में महिलाओं और लड़कियों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है, जो यूनेस्को और संयुक्त राष्ट्र महिला के साथ सहयोग संस्थानों और नागरिक समाज के सहयोग से आयोजित किया जाता है, जिसका उद्देश्य विज्ञान में महिलाओं और लड़कियों की भागीदारी को बढ़ावा देना है। यूनेस्को के लिए लैंगिक समानता एक वैश्विक प्राथमिकता है।यह दिवस लैंगिक समानता को बढ़ावा देता है और युवा लड़कियों के समर्थन को महत्वपूर्णता देता है।

"International Day of Women and Girls in Science: Contributions and Inspiration"

महत्व:

  • विज्ञान में लड़कियों और महिलाओं का अंतर्राष्ट्रीय दिवस 11 फरवरी को मनाया जाता है।
  • इस दिन के माध्यम से, हम समाज में जेंडर न्यूट्रलिटी और महिलाओं के भागीदारी को समर्थन और समानता के माध्यम से प्रोत्साहित करते हैं, जिससे विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में उनकी भूमिका महत्वपूर्ण हो।
  • विज्ञान में महिलाओं और लड़कियों के योगदान को पहचानने और उन्हें सशक्त बनाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस की एक महत्वपूर्ण प्लेटफ़ॉर्म।
  • विज्ञान में लैंगिक समानता को बनाए रखना समाजिक प्रगति और सतत विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है।
विज्ञान में लड़कियाँ और महिलाएँ का अंतर्राष्ट्रीय दिवस, Daily current affairs for UPSC in hindi

उद्देश्य:

साक्षरता और शिक्षा: 
  • इस दिन के माध्यम से, महिलाओं को विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में शिक्षा और प्रशिक्षण के लिए प्रेरित किया जाता है।
भागीदारी का प्रोत्साहन:
  • महिलाओं को विज्ञान में भागीदारी के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, जिससे वे नवीनतम अनुसंधान और नवाचार में योगदान कर सकें।
जेंडर न्यूट्रलिटी: 
  • इस दिन का उद्देश्य जेंडर न्यूट्रलिटी को प्रमोट करना है, ताकि समाज में विज्ञान क्षेत्र में महिलाओं के समर्थन और समान अवसर का माहौल बने।
विज्ञान में लड़कियों और महिलाओं के अंतर्राष्ट्रीय दिवस का महत्व क्या है?
विज्ञान में लड़कियों और महिलाओं के अंतर्राष्ट्रीय दिवस, हर साल 11 फरवरी को मनाया जाता है, जो लिंग समानता को बढ़ावा देने और वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में महिलाओं और लड़कियों की भागीदारी को प्रोत्साहित करने का उद्देश्य रखता है। यह उनके योगदान और उपलब्धियों की महत्वता को उजागर करता है और विज्ञान और प्रौद्योगिकी में उनके महत्वपूर्ण भूमिका को बताता है।
विज्ञान में लड़कियों और महिलाओं के अंतर्राष्ट्रीय दिवस कब स्थापित किया गया था?
विज्ञान में लड़कियों और महिलाओं के अंतर्राष्ट्रीय दिवस को 22 दिसंबर, 2015 को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा प्रस्ताव ए/रिस/70/212 के तहत स्थापित किया गया था।
विज्ञान क्षेत्र में लिंग समानता क्यों महत्वपूर्ण है?
विज्ञान में लिंग समानता सामाजिक प्रगति और सतत विकास के लिए महत्वपूर्ण है। यह सुनिश्चित करता है कि महिलाएं और लड़कियाँ शिक्षा, करियर, और वैज्ञानिक नेतृत्व भूमिकाओं के लिए समान अवसर प्राप्त करें।