-->

"Current Affairs: India-Maldives Relations for UPSC Aspirants"

 मालदीव और भारत के संबंध:

आर्थिक संबंध:

  • भारत द्वारा मालदीव से मुख्य रूप से स्क्रैप मेटल का आयात किया जाता है।
  • पर्यटन मालदीव की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार है, और यह भारतीय यात्रीयों के लिए एक प्रमुख पर्यटन स्थल है।
  • भारत ने 2021 में मालदीव का तीसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार बनकर उभरा।
  • भारत-मालदीव संबंधों को चीन के साथ 2017 में मुक्त व्यापार समझौता (FTA) के समय क्षति हुई थी।

ऑपरेशन और सहायता:

1. ऑपरेशन कैक्टस 1988:

  • भारतीय सशस्त्र बलों ने तख्तापलट की कोशिश को नाकाम करने में मालदीव सरकार की मदद की।

 3 नवंबर 1988 में Operation Cactus:

1. तख्तापलट का प्रयास:
  • 1988 में मालदीव में तत्कालीन राष्ट्रपति मौमून अब्दुल गयूम के नेतृत्व में तख्तापलट का प्रयास हुआ था।
  • 3 नवंबर, 1988 को ऑपरेशन केक्टस शुरू किया। 
2. भारत की क्रिया (Operation Cactus):
  • भारत ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए "Operation Cactus" का सैन्य अभियान चलाया।
  • इस अभियान में भारतीय सशस्त्र बलों ने विशेष फोर्सेज की मदद से मालदीव सरकार को समर्थन पहुंचाया और तख्तापलट को रोका।
3. महत्वपूर्ण घटना:
  • इस अभियान ने मालदीव को विदेशी दखल से बचाया और एक सुशासित सरकार की स्थापना की।
  • भारत की इस क्रिया ने उसकी प्रतिबद्धता को प्रमोट किया और पड़ोसी देशों के साथ अच्छे संबंधों को स्थापित किया।
महत्व:
  • Operation Cactus ने भारत की शक्ति और सशक्तता को प्रदर्शित किया और इसने मालदीव के साथ दोनों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों की मजबूती को बढ़ावा दिया।

2. ऑपरेशन नीर 2014:

  • भारत ने पेयजल संकट से निपटने के लिये मालदीव को पेयजल की आपूर्ति की।
India-Maldives Relations,current affairs in hindi,India-Maldives

'ऑपरेशन नीर' (Operation Neer):

कारगरता:
  • ऑपरेशन नीर भारत और मालदीव के बीच सहायता और आपूर्ति की पहल में एक महत्वपूर्ण कदम था।
  • ऑपरेशन नीर 04 सितंबर 2014 में मालदीव को पानी की सहायता देने के लिए किया गया।  
उद्देश्य:
  • इस ऑपरेशन का मुख्य उद्देश्य मालदीव को पीने के पानी की आपूर्ति करना था।
विमानों का उपयोग:
  • भारतीय वायु सेना ने तीन सी-17 और तीन आई एल-76 विमानों का उपयोग करके पैक किया हुआ पानी दिल्ली से अराक्कोनम (केरल) ले जाकर और वहां से माले (मालदीव) रवाना किया।
पानी की मात्रा:
  • वायु सेना ने बारह घंटे के भीतर 374 टन पानी को मालदीव पहुंचाया, जिससे मालदीव को पीने के पानी की समस्या में तत्परता मिली।
सहायता का समर्थन:
  • इस ऑपरेशन से भारत ने मालदीव की जल समस्या में सहायता करके दोनों देशों के बीच सजीव संबंधों को मजबूत किया और एक-दूसरे के साथ साझा दुख-सुख में हमदर्दी और समर्थन का संदेश दिया।

  • यह भारत और मालदीव के बीच के एक महत्वपूर्ण सहायता कार्यक्रम का हिस्सा था और इसने दोनों देशों के बीच सहयोग और आपसी मैत्री को मजबूत किया।

3. ऑपरेशन संजीवनी:

  • भारत ने मालदीव को COVID-19 से निपटने के लिये 6.2 टन आवश्यक दवाओं की आपूर्ति की।
  • ये ऑपरेशन और सहायता मालदीव और भारत के दोनों देशों के बीच दोस्ताना और समर्पित संबंधों की प्रतीक हैं।

ऑपरेशन संजीवनी' (Operation Sanjeevani):

1. कारगरता:
  • ऑपरेशन संजीवनी भारत और मालदीव के बीच कोविड-19 महामारी के समय आपूर्ति और सहायता की पहल में एक महत्वपूर्ण कदम था।
2. उद्देश्य:
  • इस ऑपरेशन का मुख्य उद्देश्य मालदीव को कोविड-19 से निपटने में सहायता पहुंचाना था।
3. आपूर्ति:
  • भारतीय वायु सेना ने ऑपरेशन संजीवनी के तहत 6.2 टन दवाइयों, अस्पताल सामग्री, और अन्य आवश्यक सामग्री को मालदीव भेजी।
4. विशेषता:
  • इस ऑपरेशन ने भारत की प्रतिबद्धता को दिखाया और दोनों देशों के बीच सहयोग और आपसी मैत्री को मजबूत किया।
5. भारत-मालदीव संबंध:
  • भारत ने पड़ोसी देश मालदीव को उसके समय मुश्किलें साझा करने के लिए सकारात्मक योजनाएं लागू की हैं, जिससे दोनों देश एक-दूसरे के साथ सजीव संबंधों को बनाए रखने का प्रयास कर रहे हैं।
India-Maldives Relations, current affairs  for UPSC Aspirants

Must Read This Also

भारत और मालदीव के संबंधों का इतिहास:

1. राजनीतिक संबंध:

  • भारत और मालदीव के बीच भाषायी, जातीय, सांस्कृतिक, धार्मिक, और वाणिज्यिक संबंध हैं, जिनकी जड़ें बहुत पुरानी हैं।
  • 1965 में मालदीव की आजादी के बाद, भारत ने उसे मान्यता प्रदान करने और राजनयिक संबंध स्थापित करने वाले पहले देशों में से एक था।
  • भारत ने 1972 में माले में अपना मिशन स्थापित किया।

  • राजनीतिक संबंधों के पहले स्तर पर, लगभग सभी भारतीय प्रधानमंत्रियों ने मालदीव का दौरा किया है।
  • भारत और मालदीव के बीच राष्ट्रपतियों का आपसी दौरा भी होता है।

2. द्विपक्षीय सहायता:

  • 26 दिसंबर 2004 को मालदीव को सुनामी से प्रभावित होने के बाद, भारत पहला देश था जिसने मालदीव को शीघ्रता से राहत और सहायता प्रदान की।
  • सुनामी और उससे संबंधित कारणों के चलते, मालदीव की गंभीर वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए भारत ने 10 करोड़ रुपए की बजटीय सहायता प्रदान की।

भारत और मालदीव के संबंध:

1. पड़ोसी देश:

  • भारत और मालदीव के बीच भाषायी, जातीय, सांस्कृतिक, धार्मिक, और वाणिज्यिक संबंध हैं। इन संबंधों की जड़ें बहुत पुरानी हैं और ये संबंध मधुर और बहुआयामी हैं।

ऑपरेशन नीर में किन-किन साधनों का उपयोग हुआ?
भारतीय वायु सेना ने तीन सी-17 और तीन आई एल-76 विमानों का उपयोग किया।
किस वर्ष में हुआ था 'ऑपरेशन कैक्टस'? इसका मुख्य उद्देश्य क्या था?
  • 1988 में।
  • मालदीव में तख्तापलट का प्रयास रोकना और स्थानीय सरकार को समर्थन प्रदान करना।
  • 'ऑपरेशन नीर' कब शुरू हुआ था?ऑपरेशन नीर का उद्देश्य क्या था?
  • 04 सितंबर 2014 को।
  • मालदीव को पेयजल की सहायता प्रदान करना।
  • 'ऑपरेशन संजीवनी' कब और क्यों हुआ?
  • भारत ने COVID-19 से निपटने के लिए 6.2 टन आवश्यक दवाओं की मालदीव को सहायता के लिए किया।
  • 'ऑपरेशन संजीवनी' ने कैसे भारत और मालदीव के बीच के संबंधों को मजबूत किया?
    इस ऑपरेशन ने दोनों देशों के बीच सहयोग और आपसी मैत्री को मजबूत किया और एक-दूसरे के साथ साझा दुख-सुख में हमदर्दी और समर्थन का संदेश दिया।